DOWNLOAD OUR APP
IndiaOnline playstore
06:30 PM | Mon, 27 Jun 2016

Download Our Mobile App

Download Font

जेआईटी पठानकोट के लिए रवाना, विरोध-प्रदर्शन शुरू

90 Days ago

pathankot_JIT-290316

पठानकोट। पाकिस्तान की ज्वाइंट इंवेस्टिगेशन टीम (जेआईटी) के आने की खबर लगते ही यहां मंगलवार सुबह भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के हवाईअड्डे के करीब विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया। जेआईटी यहां आईएएफ के हवाईअड्डे पर हुए आतंकवादी हमले की जांच करने आ रही है।

पंजाब में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने उस मार्ग के करीब विरोध-प्रदर्शन किया, जहां से पाकिस्तान की जांच टीम को ले जा रहा था। प्रदर्शनकारी हाथ में काले झंडे व बैनर लिए हुए थे।

बैनरों पर पाकिस्तानी टीम विशेषकर पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) और मिल्ट्री इंटेलिजेंस के अधिकारियों के नाम लिखे हुए थे।

विरोध-प्रदर्शन के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने आईएएफ के पिछले हिस्से के बाहर अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात कर दिया है।

पंजाब के विपक्षी दलों-कांग्रेस और आम आदमी पार्टी(आप) ने जेआईटी दौरे का विरोध करने की चेतावनी दी थी।

जेआईटी सदस्य रविवार को देश की राजधानी नई दिल्ली पहुंचे और देश की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के अधिकारियों के साथ कई बैठकें की। जेआईटी सदस्य मंगलवार सुबह अमृतसर के लिए रवाना हो गए।

पूर्व में विपक्षी राजनीतिक दलों के पाकिस्तानी जांच टीम के दौरे का विरोध करने की धमकी देने के चलते यहां आईएएफ के हवाईअड्डे के इर्दगिर्द सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

आईएएफ के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "हमने हवाईअड्डे की बैरिकैडिग कर दी है। घटनास्थल के चारों तरह टेंट वॉल खड़ी कर दी है। जेआईटी सदस्यों को कुछ भी नहीं दिख पाएगा। हवाईअड्डे के एक खास हिस्से में स्थित एक खास गेट के जरिए एंट्री होगी।"

पंजाब पुलिस के उप महानिरीक्षक(डीआईजी) कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कहा कि एनआईए पाकिस्तान की जेआईटी को उस मुठभेड़ स्थल पर ले जाएगी।

उन्होंने कहा, "टीम को मुठभेड़ वाली जगह पर पहुंचाया जाएगा।"

यहां रक्षा सूत्रों ने कहा कि जेआईटी टीम के सदस्यों को उन आतंकवादियों के शव भी दिखाए जा सकते हैं, जिन्हें एक सरकार अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया है।

जेआईटी सदस्यों के साथ एनआईए के अधिकारी भी होंगे। जेआईटी को पठानकोट मुठभेड़ से जुड़े किसी भी आईएएफ या अन्य रक्षा या सुरक्षा अधिकारियों व कर्मचारियों से बातचीत नहीं करने दी जाएगी।

वहीं, इससे पहले सोमवार को रक्षा मंत्री मनोहर पíरकर ने पणजी (गोवा) में कहा था कि पाकिस्तानी टीम को सिर्फ 'घटनास्थल' पर ले जाया जाएगा। उन्हें हवाईअड्डे के ऑपरेशनल एरिया में नहीं जाने दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तानी आतंकवादियों ने दो जनवरी को तड़के-तड़के पठानकोट स्थित भारतीय वायुसेना के हवाईअड्डे पर हमला किया था।
(IANS)

Viewed 58 times
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • E-mail

Our Media Partners

app banner

Download India's No.1 FREE All-in-1 App

Daily News, Weather Updates, Local City Search, All India Travel Guide, Games, Jokes & lots more - All-in-1