आपकी जीत में ही हमारी जीत है
  • Sign in | Register
  • //$(function () { // $(document).on('click', "#scartlink", function (e) { // e.preventDefault(); // //alert('scartlink test'); // $("#showmycartitems").stop().slideToggle("slow"); // if ($('.c-cart a').closest('a').prop('class') == '') { // $(".c-cart a").addClass("active"); // } // else { // $(".c-cart a").removeClass("active"); // } // }); // $(document).on('click', function (e) { // var container = $("div.c-cart"); // $("ul.sub-menu"); // if (!container.is(e.target) && container.has(e.target).length === 0) { // if ($('#showmycartitems').is(':visible')) { // $("#showmycartitems").stop().slideToggle("slow"); // } // // $('#showmycartitems').hide(); // } // }); //});

टीवी चैनलों के डिबेट का बहिष्कार करें विपक्षी दल : कुशवाहा

news

पटना| राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई पार्टियों के नेताओं को पत्र लिख कर टीवी समाचार चैनलों के 'डिबेट' (बहस) के बहिष्कार करने की अपील की है। कुशवाहा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, लोकतांत्रिक जनता दल के प्रमुख शरद यादव को पत्र लिखकर कहा है कि समाचार चैनलों पर जिस तरह की बहस हो रही है, वह चैनलों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाता है।

उन्होंने पत्र में लिखा है, "चैनल मूल मुद्दों से भटकाकर मंदिर-मस्जिद, देशभक्त-देशद्रोह और हिंदू-मुसलमान जैसे मुद्दों को उठाकर उन्माद फैलाने में लगे हैं। विपक्षी दलों को इस खेल में उलझाने की लगातार कोशिश की जा रही है।"

उन्होंने ऐसी टीवी बहसों के बहिष्कार करने की अपील करते हुए कहा कि सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर होने वाली बहसों में पार्टी जरूर हिस्सा लेगी। उन्होंने महागठबंधन में शामिल सभी दलों के नेताओं से इस मुद्दे को गंभीरता से लेने की बात कही है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी राहुल गांधी सहित विभिन्न पार्टियों के नेताओं को पत्र लिखकर टीवी समाचार चैनलों की बहसों का बहिष्कार करने की अपील की थी।

तेजस्वी ने पत्र में कहा था कि चैनलों पर हर रोज शाम के वक्त एक खास उद्देश्य से विपक्षी पार्टियों को बदनाम करने का कुचक्र रचा जाता है। अब यह एक प्रत्यक्ष सत्य है कि मीडिया का एक बड़ा तबका भाजपा को चुनावी फायदा पहुंचाने के लिए उसकी तरफदारी कर रहा है।

 

()

Download Our Free App