DOWNLOAD OUR APP
IndiaOnline playstore
07:08 PM | Sun, 26 Jun 2016

Download Our Mobile App

Download Font

टी- 20 क्रिकेट में युवराज सिंह के यादगार 5 परफॉर्मेंस

126 Days ago
| by Cricketnmore.com

yuvi-best-5-t20i-knock

ये सच है कि हालिया समय में युवराज की बल्लेबाजी में वो नशा नहीं दिखाई दे रहा है जिसके लिए युवराज क्रिकेट प्रेमियों के दिलों में निवास किया करते थे। लेकिन ऑस्ट्रेलिया दौरे पर युवराज को जो मौके मिले उसमें उन्होंने एक बार फिर से अपने चाहने वालों के लिए आस जगा दी है कि आने वाले बड़े टूर्नामेंट में युवराज के बल्ले से रन निकलने वाले हैं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि युवराज बड़े मौके पर सभी को अचंभा कर सकते हैं। अब जब टी- 20 का मौसम परवान चढ़ने लगा है और टी- 20 वर्ल्ड कप में बेहद ही कम दिन बचे हैं तो आईए हम जानते हैं युवराज के उन बेहतरीन 5 टी- 20 पारियों के बारे में जिनसे युवराज का करियर महान बना।    # 2007 टी- 20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ केवल 16 गेंद पर 58 रन 2014 टी- 20 वर्ल्ड कप में युवराज सिंह कोई कमाल नहीं कर पाए थे खासकर फाइनल में युवराज का बल्ला आश्चर्यजनक रूप में गच्चा दे गया था जिससे क्रिकेट प्रेमियों के बीच ये शंका हवा देने लगी कि 2016 वर्ल्ड कप टी- 20 में युवराज क्या अपने पूराने जौहर दिखा पाएंगें। लेकिन क्रिकेट प्रेमी जरा याद करे 2007 का टी- 20 वर्ल्ड कप जो पहली बार खेला गया था। पहला टी- 20 वर्ल्ड कप जब युवराज ने इंग्लैंड के गेंदबाज स्टुअर्ट बॉर्ड के 1 ओवर में 6 छक्के जमाकर इतिहास लिख दिया था. इग्लैंड के खिलाफ डरबन में युवराज सिंह ने केवल 16 गेंद पर 7 छक्के औऱ 3 चौकों की सहायता से 58 रन की पारी खेली थी। इस पारी के दौरान युवराज सिंह वर्ल्ड टी- 20 में सबसे तेज अर्धशतक जमाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे। युवराज ने अपना अर्धशतक केवल 12 गेंद पर जमाया था जो आजतक टी- 20 में एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। यह मैच भारत ने 18 रन से जीता था। युवराज सिंह के उस पारी के दौरान खुद महेंद्र सिंह धोनी नॉन स्ट्राइक एंड पर इस धमाकेदार पारी को निहार रहे थे। # 2007 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में 30 गेंद पर 70 रन 2007 के टी- 20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में युवराज के द्वारा खेला गया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पारी को कौन भूल सकता है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए उस मैच में युवराज सिंह ने केवल 30 गेंद पर 70 रन की पारी खेली थी।  सेमीफाइनल में टीम इंडिया का स्कोर एक समय 11 ओवर में केवल 140 रन था और ऐसा माना जा रहा था कि भारत की टीम ऑस्ट्रेलिया के सटिक गेंदबाजी के सामने कोई बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाएगी। उस वक्त युवी ने अपने बल्ले का एक बार फिर बेजोड़ नमूना पेश करते हुए अर्धशतक जमाया बल्कि भारत के स्कोर को 180 के पार ले जाने में अहम योगदान दिया। अपने 70 रन की लाजबाव पारी के दौरान युवराज सिंह ने 5 चौके औऱ 5 छक्के जमाए थे। उस मैच में कप्तान धोनी ने भी धमाकेदार पारी खेलते हुए केवल 18 गेंद पर 36 रन ठोके थे। युवराज और धोनी की पारी के बदौलत ही भारत की टीम 20 ओवर में 5 विकेट पर 188 रन बना पाने में सफल रही थी. जिसके कारण भारत के गेंदबाजों ने मिलकर ऑस्ट्रेलियाई टीम को 173 रन पर ही रोक दिया था। भारत ने मैच 15 रन से जीतकर टी- 20 वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई थी। औऱ इसमें हैरत की बात नहीं थी कि युवराज सिंह मैच में मैन ऑफ द मैच बने थे। # 2009 मोहाली में 25 गेंद पर नाबाद 60 रन और 23 रन देकर  3 विकेट 12 दिसंबर 2009 को अपने गढ़ पंजाब के मोहाली में युवराज सिंह ने श्रीलंकन टीम के खिलाफ जो परफॉर्मेंस अपने बैट और गेंद से करी थी वो आजतक युवराज सिंह के ऑल राउंड परफॉर्मेंस की अतुल्य गाथा बयान करता है। श्रीलंका के खिलाफ मोहाली के मैदान पर अपने जन्मदिवस के दिन युवराज सिंह ने ऑल राउंड खेल दिखाकर हजारों दर्शकों का दिल जीत लिया। पहले तो युवराज ने अपनी गेंदबाजी से श्रीलंकन के 3 विकेट चटकाकर श्रीलंका को पहाड़ सा स्कोर बनाने से रोका था। अपने गेंदबाजी में युवराज ने सिर्फ 23 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे जो उस मैच में भारतीय गेंदबाज के द्वारा किया गया सबसे किफायती गेंदबाजी समीकरण था। इसके बावजूद श्रीलंका की टीम ने 206 रन बोर्ड पर खड़ा कर दिए थे। भारत की टीम जब बल्लेबाजी करने आई तो सहवाग ने एक और से विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए 36 गेंद पर 64 रन ठोके। सहवाग के आउट होने के बाद जब युवी बल्लेबाजी करने आए तो टीम का स्कोर 11 ओवर में  2 विकेट पर 108 रन था। ऐसे में भारत को मैच जीतने के लिए 11 रन प्रति ओवर चाहिए थे. ऐसे में युवराज ने बिना समय गंवाए लंकन गेंजबाजों की धज्जियां उड़ाना शुरु कर दिए।  16वें ओवर में युवराज सिंह ने नुवान कुलशेखरा की एक ओवर में 23 रन जमाए। उस ऐतिहासिक मैच में युवराज सिंह ने अपने खेल के बदौलत ही भारत को जीत नसीब कराया था। युवराज सिंह ने केवल 25 गेंद पर 5 छक्के औऱ 3 चौके की सहायता से नाबाद 60 रन की पारी खेली थी। युवराज सिंह के धमाकेदार पारी का ही नतीजा था कि भारत ने श्रीलंका के विशाल सा लक्ष्य 207 को बौना साबित करते हुए जीत हासिल करी थी।   # 28 दिसंबर 2012 को अहमदाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ 36 गेंद पर 72 रन 28 दिसंबर 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ एक बार फिर युवराज का बल्ला  गरजा था. 2 मैचों की टी- 20 सीरीज में पहला टी- 20 पाकिस्तान ने जीता था इस लिहाज से अहमदाबाद मे खेला गया दूसरा टी- 20 भारत को सीरीज बचाने के लिए खेलना था। ऐसे में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी करने को कहा। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के 3 विकेट कोहली समेत 8 रन पर गिर गए थे। और लगने लगा कि भारत ऐसे – तेसे 150 रन का स्कोर खड़ा कर पाएगा। लेकिन युवराज ने यहां पर भी अपने बल्लेबाजी से साबित कर दिया था कि क्यों टी- 20 क्रिकेट में भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज युवराज सिंह हैं। ये भी पढ़ें युवराज सिंह से जुड़ी दिलचस्प बातें उस मैच में युवराज सिंह ने केवल 36 गेंद पर 72 रन की पारी खेली थी। जिसमें 4 चौके औऱ 7 छ्क्के शामिल थे।  इस मैच में अपने मनपसंद पार्टनर धोनी के साथ युवराज ने चौथे विकेट के लिए 97 रन की तेज पार्वनरशिप करी थी। युवराज औऱ धोनी की पारी के बदौलत ही भारत की टीम ने 20 ओवर में 192 रन का लक्ष्य पाकिस्तान के सामने रखा था। धोनी ने भी उस मैच में अपने बल्ले का जौहर दिखाकर 23 गेंद पर 33 रन की पारी खेली थी। अंत में भारत ने यह मैच 11 रन से जीता था तो गेंदबाजी में भी  युवराज ने 1 विकेट चटकाए थे औऱ एक बार फिर से भारत के जीत के हीरो युवराज सिंह बने थे।   #  साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राजकोट पर  केवल 35 गेंद पर नाबाद 77 रन टी- 20 क्रिकेट में युवराज ने कई मौके पर भारत को अपने बल्लेबाजी के बदौलत कठिन मुकाबले में जीत दिलाई है। युवराज के टी- 20 करियर में एक और यादगार मैच 10 अक्टूबर 2013 में हुआ था जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राजकोट पर खेले गए मैच में युवी ने मैच-विनिंग पारी खेलकर भारत को जीत दिलाई थी। ऑस्ट्रेलिया के 201 रन के विशालकाय लक्ष्य को युवराज सिंह ने अपनी 35 गेंद पर 77 रन की पारी के बदौलत बौना कर दिया था। युवराज ने अपने इस पारी के दौरान 8 चौके औऱ 5 छक्के जमाए थे। युवराज सिंह ने इस मैच में एक बार फिर से कप्तान धोनी के साथ मिलकर भारत की जीत की नींव रखी थी. युवराज ने इस मैच में कंगारू गेंदबाजों की ऐसी खबर ली थी कि युवी ने अपना अर्धशतक केवल 25 गेंद पर ही पूरा कर लिया था। भारत ने यह मैच 2 गेंद शेष रहते जीत हासिल किया था। युवराज के अलावा धोनी ने 21 गेंद पर 24 रन बनाकर युवराज का भरपूर साथ दिया था। युवराज सिंह ने अबतक 46 टी- 20 मैचों में कुल 993 रन बना चुके हैं जिसमें 8 अर्धशतक शामिल है। मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में धोनी ने युवराज को धन्यवाद भी कहा था ..।। विशाल भगत (CRICKETNMORE)
Read More

Viewed 26 times
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • E-mail

Our Media Partners

app banner

Download India's No.1 FREE All-in-1 App

Daily News, Weather Updates, Local City Search, All India Travel Guide, Games, Jokes & lots more - All-in-1