आपकी जीत में ही हमारी जीत है
  • Sign in | Register
  • //$(function () { // $(document).on('click', "#scartlink", function (e) { // e.preventDefault(); // //alert('scartlink test'); // $("#showmycartitems").stop().slideToggle("slow"); // if ($('.c-cart a').closest('a').prop('class') == '') { // $(".c-cart a").addClass("active"); // } // else { // $(".c-cart a").removeClass("active"); // } // }); // $(document).on('click', function (e) { // var container = $("div.c-cart"); // $("ul.sub-menu"); // if (!container.is(e.target) && container.has(e.target).length === 0) { // if ($('#showmycartitems').is(':visible')) { // $("#showmycartitems").stop().slideToggle("slow"); // } // // $('#showmycartitems').hide(); // } // }); //});

भारत और पाकिस्‍तान करतारपुर गलियारे का कार्य शीघ्र पूरा करने पर सहमत

news

करतारपुर गलियारे से होकर श्रद्धा‍लुओं के पाकिस्‍तान स्थित गुरूद्वारा करतारपुर साहिब आने-जाने के तौर-तरीकों और मसौदा समझौते पर आज अटारी में दोनों देशों के बीच पहली वार्ता हुई। भारत और पाकिस्‍तान ने प्रस्‍तावित समझौते के विभिन्‍न पहलुओं और प्रावधानों पर विस्‍तृत तथा रचनात्‍मक बातचीत की।

भारतीय प्रतिनिधि मंडल ने श्रद्धालुओं को वीजा के बिना दाखिले का सुझाव दिया और साथ ही उन्‍होंने गुरूद्वारा करतारपुर साहिब तक पैदल जाने की इजाजत देने की मांग भी की। दोनों पक्षों के तकनीकी विशेषज्ञों में भी प्रस्‍तावित गलियारे के रेखांकन को लेकर विस्‍तृत चर्चा हुई। भारत-करतारपुर गलियारे का कार्य दो पड़ाव में सम्‍पन्न करेगा। पहले पड़ाव में 140 करोड़ रूपये की लागत से विशेष डिजाइन वाला ट्रमीनल बनाया जाएगा। जहां से श्रद्धालु अपनी यात्रा शुरू करेंगे। भारत पहले चरण का कार्य 19 सितंबर तक पूरा कर लेगा। (AIR)

Download Our Free App