DOWNLOAD OUR APP
IndiaOnline playstore
02:21 AM | Mon, 27 Jun 2016

Download Our Mobile App

Download Font

मुरथल रेप: महिला ने बताई आपबीती, देवर सहित 7 लोगों पर केस दर्ज

119 Days ago
| by RTI News

20467c4b-8ffd-4786-a77a-37ab3367a0e9

गुड़गांव : हरियाणा के मुरथल में जाट आरक्षण आन्दोलन की आड़ में किए गए कथित गैंगरेप का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. अदालत की सख्ती और प्रशासन की सक्रियता का असर भी इस मामले में असर दिखाने लगा है. इसी का असर है कि रविवार को दिल्ली की एक महिला से अपने साथ हुए अत्याचार की आपबीती जांच टीम को सुनाई औऱ अपने खिलाफ सामूहिक बलात्कार का केस दर्ज कराया। महिला दिल्ली के नरेला की रहने वाली है। महिला ने जाट आंदोलन के दौरान अपने देवर सहित 7 लोगों पर गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है।

मुरथल में कथित गैंगरेप की घटना की जांच कर रहे एसआईटी ने इस बात की पुष्टि की है कि महिला ने दिवर सहित 7 लोगों के खिलाफ गैंगरेप का केस दर्ज कराया है। 

गौरतलब है कि यह पहली बार है मुरथल में कथित गैंगरेप में कोई महिला सामने आई है और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इसके पहले चश्मदीदों चश्मदीदों ने दावा किया कि उस दिन मुरथल में महिलाओं के साथ ज्यादती हुई। हालांकि, जांचकर्ता इस बात की पुष्टि नहीं कर सके कि महिला के साथ गैंगरेप की घटना जाट आंदोलन के दौरान हुई। 

सोनीपत की डीआईजी राजश्री सिंह ने कहा, 'महिला शनिवार को हमसे मिली थी। महिला ने दावा किया कि दुष्कर्म करने वालों में एक उसका देवर भी शामिल था। महिला ने सभी आरोपियों की पहचान की है। हमें लगता है कि यह घरेलू विवाद का भी मामला हो सकता है। हमारी जांच जारी है।'

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पीड़ित महिला ने दावा किया कि घटना के वक्त उसकी 15 साल की बेटी भी उसके साथ थी। हालांकि उसकी बेटी के साथ रेप नहीं हुआ लेकिन उसके कपड़े फाड़े गए। महिला का दावा है कि हाईवे पर अन्य महिलाओं के साथ भी रेप हुआ।

वहीं जाट आंदोलन के सदस्यों द्वारा कई महिलाओं के बलात्कार और छेड़छाड़ की कथित घटनाओं पर गौर करने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा बनाई गई महिला पुलिस अधिकारियों की तीन सदस्यीय टीम की प्रमुख राजश्री ने कहा कि पीड़ित अपराध के सटीक स्थल को लेकर निश्चित नहीं है, लेकिन उसका दावा है कि हरिद्वार से एक वैन में दिल्ली के नरेला जाते वक्त मुरथल के पास एक इमारत में उसका बलात्कार किया गया। हालांकि महिला ने कहा कि उसके साथ मौजूद 15 साल की उसकी बेटी का बलात्कार नहीं किया गया, लेकिन उसके कपड़े फाड़े गए। उन्होंने कहा कि महिला ने शनिवार को उन्हें फोन किया और रविवार को अपना बयान दर्ज कराया।

इसके साथ ही डीआईजी ने कहा कि उन्हें जो शिकायतें मिली हैं उनमें से ज्यादातर पुरुषों की हैं, जिन्होंने आंदोलनकारियों द्वारा उनके वाहनों को नुकसान पहुंचाने का दावा किया। इस बीच, हरियाणा सरकार ने जाट आंदोलन के दौरान हिंसा से प्रभावित 203 लोगों को 1.12 करोड़ रुपये की अंतरिम सहायता को मंजूरी दी। हरियाणा शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि राशि सीधे दावाकर्ताओं के बैंक खातों में डाली जाएगी।

इससे पहले, ट्रक ड्राइवरों सहित कुछ स्थानीय लोगों ने दावा किया था कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों द्वारा महिलाओं को खेतों में घसीटते हुए देखा था। टीवी चैनलों ने कुछ स्थानों पर महिलाओं के अंत: वस्त्र पड़े दिखाए थे।

उधर मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इस बीच आंदोलन से सबसे ज्यादा प्रभावित रोहतक के व्यापारी समुदाय ने कर राहत एवं बिजली बिल छूट की मांग की। डीआईजी राजश्री ने कहा, 'तीन ट्रक चालकों ने (मुरथल में) महिलाओं के यौन उत्पीड़न या बलात्कार की कोई घटना देखने की बात से इनकार किया है।' हालांकि ट्रक चालकों सुखविंदर, अब्दुल वाहिद और यदविंदर ने कहा कि आंदोलनकारियों ने उनके ट्रकों को आग लगा दी थी।

Viewed 16 times
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • E-mail

Our Media Partners

app banner

Download India's No.1 FREE All-in-1 App

Daily News, Weather Updates, Local City Search, All India Travel Guide, Games, Jokes & lots more - All-in-1