DOWNLOAD OUR APP
IndiaOnline playstore
05:37 PM | Tue, 31 May 2016

Download Our Mobile App

Download Font

भारत-विरोध के बाद JNU में होली की खिलाफत , बताया महिला विरोधी

62 Days ago
| by RTI News

1d760958-e944-4a53-b281-0673777c1308

नई दिल्लीः जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी (JNU) कैंपस में फिर एख बाद 'भारत-विरोध' के बाद 'होली की खिलाफत' हुई है। यूनीवर्सिटी में लगे नए पोस्टर के मुताबिक इनमें होली का त्यौहार महिला विरोधी है। पोस्‍टर में कहा गया है इतिहास है कि इस त्‍यौहार के बहाने दलित महिलाओं का यौन शोषण किया जाता था। बता दें कि जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी (JNU)पहले ही संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की बरसी पर कार्यक्रम आयोजित करने के विवादों का सामना कर रहा है।

इन पोस्‍टर्स का शीर्षक ‘होली में क्‍या पवित्रता’ है। ये पोस्‍टर कैंपस में स्थित स्‍कूलों, खाने-पीने की जगहों और मार्केट में लगाए गए हैं। साथ ही सोशल मीडिया पर भी ये पोस्‍टर शेयर किए जा रहे हैं। पोस्‍टर में लिखा है,’ ब्राह्मणवादी पितृसतात्‍मक भारत एक असुर बहुजन महिला होलिका को जलाने का जश्‍न क्‍यों मनाता है? होली में क्‍या पवित्रता है? इतिहास बताता है कि जश्‍न के नाम पर दलित महिलाओं का यौन शोषण किया जाता था। होली का त्‍योहार मनाना महिला विरोधी है।’

पोस्‍टर्स पर ‘फ्लेम्‍स ऑफ रेसिस्‍टेंस’ ग्रुप का नाम है। एक जेएनयू छात्र संघ कार्यकर्ता ने कहा कि उन्‍होंने ऐसे किसी ग्रुप का नाम नहीं सुना। यह कोई नया ग्रुप लगता है। हाल ही में छात्रों के एक दल ने मनस्‍मृति के अंश जलाए थे। उनका आरोप था कि मनुस्‍मृति में महिलाओं के संबंध में अपमानजनक टिप्पिणयां की गई है।

Viewed 24 times
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • E-mail

Our Media Partners

app banner

Download India's No.1 FREE All-in-1 App

Daily News, Weather Updates, Local City Search, All India Travel Guide, Games, Jokes & lots more - All-in-1