बाढ़ग्रस्‍त असम और बिहार में बचाव और राहत कार्य तेज

News

असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। राज्य के 33 जिलों में से 30 जिले बाढ़ के पानी में डूब गए हैं, जिससे लगभग 43 लाख लोग प्रभावित हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान चार लोगों की मौत के बाद बाढ़ से मरने वालों की संख्या 15 हो गई है। काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का 90 प्रतिशत हिस्सा जलमग्न हो गया है।

विभिन्न संस्थाओं द्वारा राहत और बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री सर्बानन्द सोनोवाल ने नलबाड़ी और बारपेटा जिले का दौरा कर स्थिति की समीक्षा की। केंद्रीय जल शक्तिमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत आज ऊपरी असम क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण करेंगे और गुवाहाटी में मंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे।

हमारे संवाददाता ने बताया है कि पिछले कई दिन से पूर्वोत्तर के कई राज्य बाढ़ की विभीषिका का सामना कर रहे हैं। लगभग एक लाख 50 हजार हेक्‍टेयर कृषि भूमि, मछली पालन क्षेत्र, सड़क, पुल, वन्‍य जीव, शैक्षिक संस्‍थान और आवासीय इलाकों को नुकसान पहुंचा है। नलवाड़ी जिला प्रशासन ने बीते रात सैकड़ों लोगों को सु‍रक्षित निकाला।

विस्‍थापितों के लिए विभिन्‍न जिलों में राहत शिविर लगाये गये हैं और खाने पीने का समान बांट रहे है। राष्‍ट्रीय और राज्‍य आपदा मोचन बल के साथ सेना को भी राहत और बचाव कार्य में लगाए गये हैं। मानस प्रतिम सरमा आकाशवाणी समाचार, गुवाहाटी।

उधर, बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है। राज्य के 12 जिलों में 25 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। बागमती, कमलाबलान और महानंदा सहित कई नदियां विभिन्न स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। हमारे संवाददाता ने बताया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया।

बाढ़ प्रभावित इलाकों में 196 राहत शिविर और 644 सामुदायिक रसोईघर खोले गये हैं। एक लाख से अधिक लोग शिविरों में शरण लिए हुए हैं। पूर्वी चम्‍पारण में राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 28 और अररिया में अररिया गलगलिया खंड पर राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 387 कई स्‍थानों पर टूट गया है जिससे आवाजाही बाधित है।

असम और बिहार सहित देश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 119 टीम लगाई गई हैं। इन राज्यों में बाढ़ की स्थिति पर नजर रखने के लिए दिल्ली में सातों दिन 24 घंटे काम करने के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। राष्ट्रीय आपदा बल के महानिदेशक एस एन प्रधान ने कहा कि एनडीआऱएफ टीमें राहत और बचाव कार्य में स्थानीय प्रशासन की मदद के लिए लगाई गई हैं।

असम और बिहार में ज्‍यादा टीमें दी गई हैं एनडीआरएफ की। बिहार में 19 टीमें हैं डिप्‍लॉयड और दो टीम स्‍टैंडबाई में हैं और असम में 14 टीमें एनडीआरएफ की हैं और 4 टीमें स्‍टैंडबाई में हैं। दोनों ही राज्‍यों में लगभग सात-सात जिलों में बाढ़ का कहर ज्‍यादा माना गया है, लेकिन जो रेस्‍क्‍यू ऑपरेशंस हुए हैं लगभग दोनों राज्‍य मिलाकर छह हजार से सात हजार के बीच में लोगों को रेस्‍क्‍यू किया गया है। (AIR NEWS)

152 Days ago