आपकी जीत में ही हमारी जीत है
Promote your Business

बिहार के पांच जिलों में बाढ़ की स्थिति और गंभीर हुई। ऊपरी असम में स्थिति में सुधार

news

बिहार में बाढ़ की स्थिति और गम्भीर हो गयी है। सीतामढ़ी, मधुबनी, कटिहार, पूर्णिया और मुज़फ्फरपुर ज़िलों में कुछ नये क्षेत्रों में भी पानी भर गया है। मधुबनी और मुज़फ्फ़रपुर में तटबंधों में दरार आ गयी है। मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कल पूर्वी और पश्चिमी चम्पारण का हवाई सर्वेक्षण किया और बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की।

बाढ़ से घिरे जिन इलाकों में चिकित्सा टीमों का पहुंचना कठिन है, वहां बोट एंबुलेंस के माध्यम से मेडिकल सहायता उपलब्ध कराई जायेगी। राहत शिविरों में सर्पदंश के टीकों की व्यवस्था की गई है। वहीं पशु चिकित्सकों की वैन, दवा, टीके और चारे के साथ बाढ़ प्रभावित इलाकों मे् रवाना किये गये हैं। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक भारी बारिश से राहत का पूर्वानुमान जताया है। इससे बाढ़ की स्थिति में सुधार होने की संभावना है।

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल आज बराक घाटी का हवाई सर्वेक्षण करेंगे और ज़िला प्रशासन के साथ बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करेंगे। ऊपरी असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है लेकिन निचले असम में स्थिति गंभीर बनी हुई है।

बाढ़ और भूस्खलन के कारण राज्य में अठारह लोगों की मौत हुई है। तीस ज़िलों के पचास लाख से अधिक लोगों पर बाढ़ का असर पड़ा है। एक लाख से अधिक लोगों ने राहत शिविरों में शरण ली है। लगभग अठारह हज़ार लोगों को कल विभिन्न एजेंसियों ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। सेना की पांच टुकड़ियां बचाव कार्य में लगायी गयी हैं।

केंद्र ने असम को आपदा प्रबंधन के लिये दो सौ इक्यावन करोड़ रुपये जारी किये हैं। जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कल बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के बाद यह जानकारी दी। उन्होंने पूर्वोत्तर जल प्रबंधन प्राधिकरण गठित करने पर भी बल दिया। नीति आयोग के उपाध्यक्ष के नेतृत्व वाली समिति ने इसकी सिफारिश की थी । (AIR NEWS)

354 Days ago

Video News

Download Our Free App

Advertise Here